Rudraksh



वर्ष 2016 डा. आचार्य पी संजय की नजर से

मेषः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष काफी उथल-पुथल वाला होगा। खासकर जुलाई, 2016 तक तिकड़म या विवाद के साथ कुछ सफलता का योग भी बनता है। आर्थिक लाभ के साथ राजनीतिक सफलता भी। रोमांटिक योग भी। वैवाहिक क्षेत्रों में अशांति/विवाद भी। किंतु अगस्त, 2016 से दिसम्बर, 2016 तक कुछ ज्यादा परेषान कर सकता है। ओभरकन्फीडेंस में नहीं रहना उचित होगा। धोखा भी खा सकते हैं। साथ में हेल्थ मैटर से उलझे हुए रह सकते हैं। सरकारी पक्ष से मुश्किल भी। सिंह राशि का राहु मिलाजुला लाभ है, पर संतान एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा। षनि का गोचर विपरीत फल ही देगा। अष्टम में रहने से दुर्घटना का योग भी बनाता है। वृहस्पति भी शत्रु/रोग बढ़ायेगा ही।श्रीविष्णु भगवान की पूजा, दर्शन लाभकारी होगा। गुरू/ज्योतिष के संरक्षण में रहना लाभकारी होगा।

वृषः इस राषि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष अच्छा-बुरा दोनों देने वाला होगा। खासकर जुलाई, 2016 तक तिकड़म एवं विवाद बढ़ाने वाला योग बनता है। आर्थिक नुकसान के साथ बीमारी एवं विवाद में जा सकते हैं । घरेलू विवाद भी। भूमि संबंधी कार्य भी। वैवाहिक कार्यक्रमों में असफलता भी। किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक काफी कुछ बेहतर दे सकता है। संतान/करियर में सफलता भी। साथ में हेल्थ मैटर से सुधार में रहेंगे। सिंह राशि का राहु भाग-दौड़ एवं नुकसान देने वाला है पर माता एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा।शनि का गोचर मिलाजुला फल ही देगा। वृहस्पति जुलाई, 2016 तक मददगार नहीं है। भगवान शिवलिंग की पूजा, दर्शन लाभकारी होगा। गुरू/ज्योतिष के संरक्षण में रहना लाभकारी होगा।

मिथुनः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष काफी उथल-पुथल, पर आर्थिक लाभ वाला होगा। खासकर जुलाई, 2016 तक तिकड़म या विवाद के साथ सफलता का योग भी बनता है। आर्थिक लाभ के साथ राजनीति में सफलता भी। रोमांटिक योग भी। वैवाहिक क्षेत्रों में मिलाजुला प्रभाव भी। किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक कुछ परेशान कर सकता है। कुछ धोखा भी खा सकते हैं। साथ में हेल्थ मैटर से उलझे हुए रह सकते हैं। सिंह राशि का राहु लाभकारी है, पर संतान एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा। बांह/छाती प्रदेश में कष्ट भी। कन्फूजन से बचे। शनि का गोचर अनुकूल फल ही देगा। वृहस्पति शत्रु/रोग बढ़ायेगा ही। स्थान परिवर्तन योग भी।भगवान शिवलिंग की पूजा, दर्षन लाभकारी होगा। माता रानी दुर्गा का पूजन/दर्शन लाभकारी होगा। गुरू के संरक्षण में रहना लाभकारी होगा।

कर्कः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष काफी उलझाने वाला होगा। खासकर जुलाई, 2016 तक तिकड़म या विवाद के साथ सफलता का योग भी बनता है। अबैध आर्थिक लाभ के साथ राजनीति में सफलता भी। रोमांटिक योग भी। वैवाहिक कार्यक्रमों में अशांति एवं विवाद भी। किंतु अगस्त, 2016 से दिसम्बर, 2016 तक कुछ ज्यादा परेशान कर सकता है। ओभरकन्फीडेंस में नहीं रहना उचित होगा। धोखा भी खा सकते हैं। अतिभावना से बचना होगा। साथ में हेल्थ मैटर से उलझे हुए रह सकते हैं। सिंह राशि का राहु आंशिक लाभ है, पर संतान एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा। नशा/विष से खतरा भी। शनि का गोचर विपरीत फल ही देगा। वृहस्पति भी शत्रु/रोग बढ़ायेगा ही।श्रीविष्णु भगवान की पूजा, दर्शन लाभकारी होगा। गुरू/ज्योतिष के संरक्षण में रहना लाभकारी होगा।

सिंहः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष काफी लाभकारी वाला होगा। खासकर जुलाई 2016 तक तिकड़म या विवाद के साथ सफलता का योग भी बनता है। आर्थिक लाभ के साथ राजनीति में सफलता भी। अपने अहम् को व्यवहारिक बनाना होगा। रोमांटिक योग भी। वैवाहिक क्षेत्र में सफलता भी। किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक कुछ ज्यादा लाभकारी कर सकता है। नये व्यवसाय/जाॅब में सफलता भी। साथ में हेल्थ/कानूनी मैटर से उलझे हुए रह सकते हैं। मूत्र प्रदेश/छाती प्रदेश से जांच करा लेना चाहिए। सिंह राशि का राहु लाभ देगा पर संतान एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा।शनि का गोचर विपरीत फल ही देगा। दुर्घटना योग भी देगा। घर से दूरी भी रख सकता है। वृहस्पति धन का योग बढ़ायेगा ही। श्रीविष्णु भगवान की पूजा, दर्षन लाभकारी होगा। गुरू/ज्योतिष के संरक्षण में रहना लाभकारी होगा।

कन्याः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष संघर्ष देने वाला होगा। खासकर जुलाई 2016 तक तिकड़म एवं विवाद बढ़ाने वाला योग बनता है। आर्थिक नुकसान के साथ बीमारी एवं विवाद में जा सकते हैं। घरेलू विवाद भी। अपराधिक क्षेत्रों से भी बचना होगा। नये व्यवसाय या जाॅब में धैर्य एवं विवेक से काम निकालना होगा। वैवाहिक कार्यक्रमों में असफलता भी। किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक काफी कुछ बेहतर दे सकता है। साथ में हेल्थ मैटर से सुधार में रहेंगे। सिंह राशि का राहु भाग-दौड़ एवं नुकसान देने वाला है पर माता एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा। शनि का गोचर लाभकारी फल अवश्य देगा। वृहस्पति जुलाई 2016 तक मददगार नहीं है। कानूनी लफड़ा/आर्थिक नुकसान से बचना होगा । भगवान शिवलिंग की पूजा, दर्शन लाभकारी होगा। माता रानी का आषीर्वाद अवष्य लेना कल्याणकारी होगा।

तुलाः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष काफी उथल-पुथल पर आर्थिक लाभ वाला होगा। खासकर जुलाई 2016 तक तिकड़म या विवाद के साथ सफलता का योग भी बनता है। आर्थिक लाभ के साथ राजनीति में सफलता भी। रोमांटिक योग भी। वैवाहिक कार्यक्रमों में सफलता भी। किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक कुछ ज्यादा परेशान कर सकता है। कुछ धोखा भी खा सकते हैं। कानूनी या जेल/पुलिस से सामना करना पड़ सकता है। आर्थिक लाॅस भी। बीमारी पर खर्च बढ़ा सकता है। साथ में हेल्थ मैटर से उलझे हुए रह सकते हैं। सिंह राशि का राहु लाभ है पर संतान एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा। शनि का गोचर प्रतिकूल फल ही देगा। जुलाई 2016 तक का समय वृहस्पति षत्रु/रोग बढ़ायेगा ही। स्थान परिवर्तन योग भी। कानूनी लफड़ा भी देगा । भगवान शिवलिंग की पूजा, दर्षन लाभकारी होगा। गुरू/ज्योतिष के संरक्षण में रहना लाभकारी होगा। शनि की शांति भी आवश्यक है।

वृश्चिकः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष लाभकारी रहेगा। खासकर जुलाई 2016 तक तिकड़म या विवाद के साथ सफलता का योग भी बनता है। अबैध आर्थिक लाभ के साथ राजनीति आंशिक सफलता भी। रोमांटिक योग भी। वैवाहिक क्षेत्र में अषांति एवं विवाद भी। अपने जिद्दी प्रभाव को व्यवहारिक बनाना होगा । किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक कुछ ज्यादा लाभकारी देगा। अगस्त 2016 से आर्थिक लाभ भी देगा। साथ में हेल्थ मैटर से कुछ उलझे हुए रह सकते हैं। सिंह राशि का राहु लाभकारी है पर कर्म एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा। शनि का गोचर विपरीत फल ही देगा।शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव नुकसान ही देगा। वृहस्पति धन/सम्पत्ति बढ़ायेगा। रिस्क वाला कार्य भी करायेगा। श्रीविष्णु भगवान की पूजा, दर्शन लाभकारी होगा। गुरू/ज्योतिष के संरक्षण में रहना लाभकारी होगा। चंद्रमा एवं शनि की शांति भी आवश्यक है।

धनुः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष काफी उथल-पुथल वाला होगा। खासकर जुलाई 2016 तक का समय कुछ लाभकारी एवं भागदौड़ वाला समय का योग भी बनता है। आर्थिक लाभ के साथ राजनीति में सफलता भी। रोमांटिक योग भी। वैवाहिक क्षेत्र में सफलता भी। किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक कुछ ज्यादा परेशान कर सकता है। ओभरकन्फीडेंस में नहीं रहना उचित होगा। धोखा भी खा सकते हैं। कानूनी लफड़ा या फिर पुलिस के लफड़ा से बचना होगा। अपने एक्शन पर चिंतन करना पड़ेगा। गुस्सा एवं अहम् पर नियंत्रण रखना होगा। साथ में हेल्थ मैटर से उलझे हुए रह सकते हैं। सिंह राशि का राहु मिलाजुला प्रभाव दे रहा है, पर संतान एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा। शनि का गोचर काफी विपरीत फल ही देगा। अगस्त 2016 से दशम का वृहस्पति काम में बाधा ही देगा। भगवान शिवलिंग पर दूध/जल चढ़ायें। पूजा, दर्शन लाभकारी होगा। गुरू/ज्योतिष के संरक्षण में रहना लाभकारी होगा। शनि ग्रह की शांति भी आवश्यक है।

मकरः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष अच्छा-बुरा दोनों देने वाला होगा। खासकर जुलाई 2016 तक कन्फूजन एवं दुर्घटना बढ़ाने वाला योग बनता है। आर्थिक नुकसान के साथ बीमारी एवं विवाद में जा सकते हैं । घरेलू विवाद भी। वैवाहिक कार्यक्रमों में असफलता भी। अचानक लाॅस भी। चोट/दुर्घटना से बचना होगा। रिस्क वाला कार्य से बचना होगा। देश-विदेश यात्रा भी करायेगा। किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक काफी कुछ बेहतर दे सकता है। साथ में हेल्थ मैटर से सुधार में रहेंगे। सिंह राशि का राहु भाग-दौड़ एवं नुकसान देने वाला है पर माता एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा। शनि का गोचर लाभकारी फल ही देगा। वृहस्पति जुलाई 2016 तक मददगार नहीं है। श्री हनुमान चालीसा का पाठ करें। सूर्यदेव की आराधना भी करें। वृहस्पति ग्रह की शांति भी आवष्यक है।

कुंभः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष काफी उथल-पुथल पर आर्थिक लाभ वाला होगा। खासकर जुलाई 2016 तक तिकड़म या विवाद के साथ सफलता का योग भी बनता है। रोमांटिक योग विशेष साथ में प्रतिष्ठाहन्न भी। कुछ बड़े कार्योमें सफलता भी। वैवाहिक क्षेत्रों में अशांति भी। अपने मित्रों को पर्सनल लाइफ में दूरी बनाये रखें। किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक कुछ ज्यादा परेशान कर सकता है। कुछ धोखा भी खा सकते हैं। साथ में हेल्थ मैटर से उलझे हुए रह सकते हैं। सिंह राशि का राहु मिलाजुला फल देगा पर वैवाहिक एवं मानसिक क्षेत्रों में परेषान रखेगा। शनि का गोचर अनुकूल फल ही देगा। वृहस्पति जुलाई 2016 तक मददगार है लेकिन अगस्त 2016 से दिसम्बर 2016 बीमारी एवं नुकसान भी। स्थान परिवर्तन या विदेश/दूर जाने का योग भी।श्री हनुमान चालीसा का पाठ करें। भगवान शिव का ध्यान करें। वृहस्पति ग्रह की शांति भी आवश्यक है।

मीनः इस राशि या लग्न वालों के लिए 2016 का वर्ष कुछ परेशानी के साथ लाभकारी वाला होगा। खासकर जुलाई 2016 तक षत्रु/बीमारी बढ़ेगा। अचनाक शत्रुओं का बढ़ना चिंता बढ़ा सकता है। आर्थिक परेशानी के साथ राजनीति सफलता भी। रोमांटिक योग बढ़ायेगा। वैवाहिक क्षेत्र में विवाद पर वैवाहिक क्षेत्र में सफलता भी दिलायेगा। किंतु अगस्त 2016 से दिसम्बर, 2016 तक कुछ सफलतादायक रह सकता है। साथ में हेल्थ मैटर से बेहतर रह सकते हैं। गैस/पेट/मूत्र संबंधी शिकायत भी। सिंह राशि का राहु लाभप्रद है पर संतान एवं मानसिक क्षेत्रों में परेशान रखेगा।शनि का गोचर फल कुछ लाभ ही देगा। गलत रास्तों से दूरी रखना उचित होगा। वृहस्पति अगस्त 2016 से लाभकारी। नये व्यवसाय भी करायेगा। नये व्यवसाय/जाॅब के लिए प्रयासरत रहें। श्रीविष्णु भगवान की पूजा, दर्शन लाभकारी होगा। गुरू के संरक्षण में रहना लाभकारी होगा।



Move Back













astrovision.in@gmail.com
Copyright@ 2014-15 Astrovision.in All Right Resereved